रमजान मुबारक शायरी इन हिंदी | Ramadan Mubarak Shayari In Hindi

247
रमजान मुबारक शायरी इन हिंदी

Ramadan Mubarak Shayari In Hindi

हेलो मेरे प्यारे दोस्तों आज के इस ब्लॉग पोस्ट में आप का स्वागत है आज के इस ब्लॉग पोस्ट में आप को रमज़ान से रेलेटेड शायरी मिलेगा आप अपने दोस्तों के साथ और अप्पने फैमेली के साथ शेयर कर सकते है इस रमजान के मुकेपर और दोस्तों अगर आप को हमारी यह ब्लॉग पोस्ट पसंद आती है तो आप हमारी इस ब्लॉग पोस्ट को शेयर जरूर करे

 

1
बे ज़ुबान को जब वो ज़बान देता है
पढ़ने को फिर वो  कुरान देता है
बख्शेने पे आए जब उम्मत के  गुनाहों को
तोहफ़े मैं गुनहगारों को  रमज़ान देता है

2
चाँद से रोशन हो रमजान तुम्हारा,
इबादत से भरा हो रोज़ा तुम्हारा,
हर रोज़ा और नमाज़ कबूल हो तुम्हारी,
यही अल्लाह से है दुआ हमारी…

 

3
सदा हंसते रहो जैसे हंसते हैं फूल
दुनिया के सारे ग़म तुम्हें जाए भूल
चारों तरफ फैलाओं खुशियों के गीत
इसी उम्मीद के साथ यार तुम्हे
मुबारक हो रमज़ान

 

4
रहमतों की बारिश का महीना है दोस्तों,
ए मेरे मुल्क तुझको हो रमजान मुबारक।

 

5
रमज़ान में हो जाए सबकी मुराद पूरी मिले 
सबको ढेरों खुशियां ना रहे कोई इच्छा 
अधूरी आप सभी को रमज़ान मुबारक

 

6
न रहेगा ये हमेशा कुछ ही दिन का मेहमान है
रहमत से भर लो झोलियाँ
गुज़र रहा है माह-ए-रमज़ान है
रमज़ान मुबारक

 

7
चांद सी रोशन हो रमज़ान तुम्हारी, एबादत से
 भरा हो रोज़ा तुमारा, हर रोज़ा और नमाज़ हो 
क़बूल तुम्हारी, ये अल्लाह से है दुआ हमरी।

 

8
रमजान का चाँद दिखा रोजे की दुआ मांगी,
रौशन सितारा दिखा आप की खैरियत की दुआ मांगी.
आप सभी को रमजान मुबारक हो

 

9
चांद सी रोशन हो रमज़ान तुम्हारी, एबादत से
 भरा हो रोज़ा तुमारा, हर रोज़ा और नमाज़ हो 
क़बूल तुम्हारी, ये अल्लाह से है दुआ हमरी।

 

10
रहमतें बरसाने वाला महीना है,
आओ आज सब खताओं की माफी मांग लें,
दर-इ-तौरबा खुला है इस महीने में
रमजान मुबारक

 

11
रमजान के महीने में सबकी खुशियाँ पूरी हो,
सबको मिले ढ़ेरों खुशियाँ, कोई ख्वाहिश न अधूरी हो.
रमजान मुबारक

 

12
रमज़ान आया है, रमज़ान आया है
रहमतों की बरकतों का महीना आया है
लूट लो नेकियाँ जितना लूट सकते हो
पूरे एक साल में ये ऑफर का महीना आया हैं

 

13
ये सुबह जितनी खूबसूरत है, 
उतना ही खूबसूरत आपका हर एक पल हो, 
जितनी भी खुशियां आपके पास आज हैं, 
उससे भी ज्यादा वो आपके पास कल हों रमजान मुबारक

 

14
चाँद से रोशन हो रमज़ान तुम्हारा 
इबादत से भर जाए रोज़ा तुम्हारा 
हर नमाज़ हो कबूल आपकी 
बस यही दुआ है खुदा से हमारी 
आप सभी को रमज़ान मुबारक

 

15
रात को नया चाँद मुबारक
चाँद को चांदनी मुबारक
सितारों को बुलंदी मुबारक
और आप सब को हमारी तरफ से
रमज़ान मुबारक

 

16
हम आपके दिल में रहते है इसलिए हर दर्द सहते हैं कोई 
हम से पहले विश न कर दे आपको इसलिए 
सबसे पहले हैप्पी रमज़ान मुबारक कहते हैं

 

17
ऐ चाँद उनको मेरा पैगाम कहना
खुशी का दिन और हसी की हर शाम कहना
जब वो देखे बहार आकर तो उनको मेरी तरफ से
मुबारक हो रमज़ान कहना

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here