ईद मुबारक शायरी 2020 | Eid mubarak Shayari in Hindi

196


हेल्लो मेरे  प्यारे  मुस्लमान बाई आप सभी को मेरी तरफ से  ईद मुबारक  हो  मै उम्मेद करतेहो की आप का तेहवार सही से गुजरे और अभी जो हमारे देस में हल रहा है वह जल्द से जल्द सही हो जाइ २०२० कोरोना 

ईद मुबारक शायरी 2020

 

1
चाँद से रोशन हो रमजान तुम्हारा
इबादत से भरा हो रोज़ा तुम्हारा
हर रोज़ा और नमाज़ कबूल हो तुम्हारी
यही अल्लाह से है, दुआ हमारी
2
हम आप की याद में उदास हैं
बस आप से मिलने की आस हैं
चाहे पास कितने ही क्यों न हो
मेरे लिए तो आप ही सब से ख़ास हैं
आपको ईद मुबारक!
3
ए चाँद, तू उनको मेरा पैगाम कह देना
ख़ुशी का दिन और हंसी की शाम देना
जब वो देखे तुझे बाहर आकर
उनको मेरी तरफ से ईद मुबारक कह देना
4
ये दुआ मांगते है हम ईद के दिन
बाकी न रहे आपका कोई ग़म ईद के दिन
आपके आँगन में उतरे हर रोज़ खुशियों भरा चाँद
और महकता रहे फूलों का चमन ईद के दिन
आप सभी को ईद मुबारक
5
कोई इतना चाहे हमें तो बताना
कोई तुम्हारी फ़िक्र करे तो बताना
ईद मुबारक तो हर कोई कह देगा
कोई हमारे अंदाज़ में कहे तो बताना
दिल से ईद मुबारक
6
नज़र का चैन दिल का सरूर होते हैं
कुछ ऐसे लोग जहाँ में जरूर होते हैं
सदा चमकता रहे ये ईद का तयौहार
करीब रह के भी हम से जो दूर होते हैं
 
7
आज ईद आई है सब लोग कहते है,
तुम जो आ जाओ तो मुझे यकीन हो जाये
 
8
ईद मुबारक
ईद लेकर आती है ढेर सारी खुशियां;
ईद मिटा देती है इंसान में दूरियां;
ईद है ख़ुदा का एक नायाब तबारक;
और हम भी कहते हैं आपको “ईद मुबारक”
9
चुपके से चाँद की रौशनी छू जाये आपको
धीरे से ये हवा कुछ कह जाये आपको
दिल से जो चाहते हो मांग लो खुदा से
हम दुआ करते हैं वो मिल जाये आपको
आप सभी को ईद मुबारक….!
10
ये दुआ मांगते है हम ईद के दिन
बाकी न रहे आपका कोई ग़म ईद के दिन
आपके आँगन में उतरे हर रोज़ खुशियों भरा चाँद
और महकता रहे फूलों का चमन ईद के दिन
आप सभी को ईद मुबारक
11
खुशियों की शाम और यादों का
ये समान, अपनी पलकों पे हरगिज़
सितारे ना लायें गे, रखना
संभल कर चाँद खुशिया
मेरे लिए मैं लौट आऊं गा तो
ईद मनाएंगे
12
कितनी ईदे गुज़र गई तुम बिन,
अब खुदा के ना तडपना,
देखो फिर ईद आने वाली है, ईद
के साथ तुम भी अजाना

हैप्पी ईद मिलादुन नबी

13
अल्लाह की करते हैं तहे दिल इबादत दुश्मन हो या दोस्त रखे सभी को सलामत कुबूल फ़रमाय से शायरी का नज़राना ईदी चाहिये तो घर जरुर आना

14

हंसते रहो जैसे हंसते हैं फूल, दुनिया के सारे गम तुम्हें जाए भूल, चारों तरफ फैलाओ खुशियों के गीत, ऐसी उम्मीद के साथ तुम्हें मुबारक हो ईद.

15ईद लेकर आती है ढेर सारी खुशियां, ईद मिटा देती है इंसान में दुरियां, ईद है खुदा का एक नायाम तबारोक, इसीलिए कहते हैं ईद मुबारक.

16तुम्हारी दीदार् से मसरूफ मेरी ईद है जानम, जरा एक बार नकाबे रूख फेर देना ताकि मुझे मेरी ई-दी मिल जाए

17कोई इतना चाहे हमे तो बताना कोई तुम्हारी फ़िक्र करे तो बताना ईद मुबारक हो हर कोई कह देता है कोई हमारे अंदाज़ में कहे तो बताना

18ऐ रूठे हुवे दोस्त मुझे इतना बता दे, क्या मुझ से गले मिलने का अब मन नहीं होता, बच्चों की तरह दौड़ के आ सीने से लग जा, ये ईद का दिन है कोई दुश्मन नहीं होता.

19आप सभी को ईद के इस त्यौहार की बहुत बहुत मुबारकबाद। अल्लाह आपकी सभी शुभकामनाये पूरी करे और आपका जीवन खुशियो से भर दे। ईद मुबारक। हैपी ईद।

20हवा को खुशबू मुबारक, फ़िज़ा को मौसम मुबारक, दिलों को प्यार मुबारक, आपको हमारी तरफ से ईद मुबारक।

21हर आँखो को चाँद की दीद मुबारक हो, मुबारक हो भाई मुबारक हो, ईद मुबारक हो

22हम आप की याद में उदास हैं बस आप से मिलने की आस हैं चाहे पास कितने ही क्यों न हो मेरे लिए तो आप ही सब से ख़ास हैं आपको ईद मुबारक

23मौसम मस्त हो, माहौल जबर्दस्त हो, अभी ईद मुबारक बोल दूँ, क्या पता बाद में सारी लाईने व्यस्त हो! ईद मुबारक

24चलो इस बार कुछ अलग अंदाज़ से मनाते हैं ईद, देकर अपनी खुशियाँ सबके दर्द लेते हैं खरीद! ईद मुबारक

25 मौका हैं खास कहदे दिल के ज़स्बात गीले शिकवे भुलाकर सभी को ईद मुबारक

26नज़र का चैन दिल का सरूर होते हैं कुछ ऐसे लोग जहाँ में जरूर होते हैं सदा चमकता रहे ये ईद का तयौहार करीब रह के भी हम से जो दूर होते हैं

27लेकर आये हैं नया नजराना, कहने को दिल का नया फ़साना। मुबारक हो तुमको ये ईद हमारी, सारी आरज़ू हो पूरी तुम्हारी।। आप को ईद मुबारक

28ईद का दिन है गले आज तो मिल लेज़ालिम रस्म-ए-दुनिया भी है मौक़ा भी है दस्तूर भी है

29ए चाँद, तू उनको मेरा पैगाम कह देना ख़ुशी का दिन और हंसी की शाम देना जब वो देखे तुझे बाहर आकर उनको मेरी तरफ से ईद मुबारक कह देना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here