ईद मुबारक शायरी हिंदी | Eid Mubarak Shayari Hindi Mai

193

ईद मुबारक शायरी हिंदी | Eid Mubarak Shayari Hindi Mai

1

सूरज की किरणों तारों की बहार चांद की चांदनी अपनों का प्यार आपकी हर घड़ी हो खुशहाल उसी तरह मुबारक हो आपको ईद का यह त्यौहार
 
2
हर मंजिल आपके पास आ जाए हर दुख दर्द आपसे दूर हो जाए इस ईद पर आपसे खुशियों की बौछार हो जाए आपको ईद मुबारक

 

3
तेरे कहने पे लगायी है यह मेहँदी मैंने,
ईद पर अब न तू आया तो क़यामत होगी.
 
4
ए चाँद, तू उनको मेरा पैगाम कह देना,
ख़ुशी का दिन और हँसी की शाम देना,
जब वो देखे तुझे बाहर आकर,
उनको मेरी तरफ से ईद मुबारक 2020 कह देना…
 
5
नज़र का चैन दिल का सरूर होते हैं
कुछ ऐसे लोग जहाँ में जरूर होते हैं
सदा चमकता रहे ये ईद का तयौहार
करीब रह के भी हम से जो दूर होते हैं
 
6
जिन्दगी का हर पल खुशियों से कम न हो; 
आप का हर दिन ईद के दिन से कम न हो; 
ऐसा ईद का दिन आपको हमेशा नसीब हो; 
जिसमें कोई दुख और कोई गम न हो.
 
7
इश्क में ना कभी कोई तिजारत हो
दिल से दिल का रिश्ता हो
मेरी तरफ से आपको
ईद मुबारक हो
 
8
दिए जलते और जगमगाते रहें
हम आपको इसी तरह याद आते रहें
जब तक ज़िंदगी है ये दुआ है हमारी
आप ईद के चाँद की तरह जगमगाते रहें
आप को ईद मुबारक
 
9
आज यारों को मुबारक हो कि सुबह-ए- ईद है,
आ जाओ यारों साथ में जशन मनाए 
 
10
 इस ईद में हमारे मन में ख्याल आया,
आपको नजराना कौनसा देना है,
दुआओं का और शुभकामनाएं का गुलदस्ता बनाया है,
वहीं फूलों के साथ भेजा है ,
ईद मुबारक
 
11
जिंदगी तब बेहतर होती है जब हम खुश होते हैं,
लेकिन यकीन करो ज़िंदगी तब बेहतरीन हो जाती है,
जब हमारी वजह से सब खुश हो जाते हैं ईद मुबारक
 
12
पक में अगर नूर ना होता,तन्हा दिल यूँ मजबूर ना होता,मैं 
आपको “ईद मुबारक” कहने ज़रूर आता,अगर आपका 
घर इतना दूर ना होता। ईद मुबारक”
 
13
अल्लाह की करते हैं तहे दिल इबादत
दुश्मन हो या दोस्त रखे सभी को सलामत
कुबूल फ़रमाय से शायरी का नज़राना
ईदी चाहिये तो घर जरुर आना

 

 

14
चुपके से चांद की रोशनी छू जाएं आपको,धीरे से ये हवा
 कुछ कह जाए आपको,दिल से जो चाहते हो मांग लो खुदा 
से,हम दुआ करते हैं वो मिल जाए आपको ईद मुबारक
 
15
 समुन्दर को उसका किनारा मुबारकचाँद को सितारा मुबारकफूलों को
 उसकी खुशबू मुबारकदिल को उसका दिलदार मुबारक 
और हमारी तरफ से आपको भी ईद मुबारक 
 
16
चलो इस बार कुछ अलग अंदाज़ से मनाते हैं ईद,
देकर अपनी खुशियाँ सबके दर्द लेते हैं खरीद!
ईद मुबारक
 
17
ये दुआ मांगते है हम ईद के दिन
बाकी न रहे आपका कोई ग़म ईद के दिन
आपके आँगन में उतरे हर रोज़ खुशियों भरा चाँद
और महकता रहे फूलों का चमन ईद के दिन
आप सभी को ईद मुबारक
 
शेर जरूर करे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here