बेस्ट खूबसूरत लव शायरी हिंदी में | Best beautiful hindi love shayari

149
Best Hindi shayari
1
जिंदगी में कुछ ऐसा मुकाम हासिल करने की कोशिश करो कि लोग आपका नाम फेसबुक पे नहीं गूगल पर ढूढें।

 

2
सामने हो मंजिल तो रास्ता ना मोड़ना; जो मन में हो वो ख्वाब ना तोड़ना; 

 

3
हर कदम पे मिलेगी कामयाबी 
तुम्हें; बस सितारे छूने के लिए कभी ज़मीन ना छोड़ना।

 

4
बदमाश तो हम उसी दिन बन गये थे,
जिस दिन पापा जी ने कहा था बेटा पिट के मत आइयो बाकी सब कुछ हम देख लेगे.

 

5
नदी जब किनारा छोड़ देती हैं; राह की चट्टान तक तोड़ देती हैं;

 

6
 बात छोटी सी अगर चुभ जाती है दिल में; ज़िंदगी के रास्तों को मोड़ देती हैं!

 

7
इंसान के कंधों पर ईंसान जा रहा था
कफ़न में लिपटा अरमान जा रहा था

 

8
जिन्हें मिली बे-वफ़ाई महोब्बत में
वफ़ा की तलाश में श्मशान जा रहा था

 

9
परिंदों को नहीं दी जाती तालीम उड़ानों की; वो खुद ही तय करते हैं 
मंजिल आसमानों की; 

 

10
रखते हैं जो हौसला आसमानों को छूने का;
 उनको नहीं होती परवाह गिर जाने की।

 

11
शेर छलांग मारने के लिए एक कदम पीछे लेता है इसी तरह जब जिंदगी आपको पीछे धकेलती है तो
कमर कस ले की जिंदगी आपको एक ऊँची छलांग देने के लिए तैयार है

 

12
इस दुनिया में कोई भी महान व्यक्ति नहीं है 
केवल महान चुनौतियां ही हैं 

 

13
अभी ना पूछो हमसे मंज़िल कहाँ है;
अभी तो हमने चलने का इरादा किया है;

 

14
 ना हारे हैं ना हारेंगे कभी; यह किसी और से नहीं बल्कि खुद से वादा किया है।

 

15
हर रिश्ते में विश्वास रहने दो 
जुबान पर हर वक़्त मिठास रहने दो

 

16
यही तो अंदाज़ है जिंदगी जीने का न खुद
 रहो उदास न दूसरों को रहने दो

 

17
हमारी राह भले ही भयानक और पथरीली हो हमारी यात्रा कितनी भी कष्टदायक हो फिर भी हमें  आगे बढ़ना ही है। 

 

18
सफलता का दिन दूर हो सकता है पर उसका आना अनिवार्य है।

 

19
आज बादलों ने फिर साज़िश की; जहाँ मेरा था घर वहीँ बारिश की; अगर फलक को ज़िद्द है  बिजलियाँ गिराने की; 
तो हमें भी ज़िद्द है वहीं आशियाना बनाने की।

 

20
मेरी मंजिल मेरे करीब है इसका मुझे एह्सास है गुमान नहीं मुझे इरादों पे अपने; ये मेरी सोच और हौंसलों का विश्वास है।

 

21
उगता हुआ सूरज दुआ दे आपको खिलता हुआ फूल खुशबू दे आपको
हम तो कुछ भी देने के काबिल नहीं देनेवाला हज़ार खुशिया दे आपको

 

22
पहाड़ चढ़ने का एक असूल है झुक कर चढ़ो ज़िंदगी भी
 बस इतना ही मांगती है अगर झुक कर चलोगे तो ऊंचाई तक पहुँच जाओगे।

 

23
हालात के कदमों पर सिकंदर नहीं झुकता; टूटे भी तर तो ज़मीन पर नहीं गिरता;

 

24
 गिरती है बड़े शौंक से समंदर में
 नदियां; कभी किसी नदी में समंदर नहीं गिरता।

 

25
जो सफर की शुरुआत करते हैं; 
वो ही मंज़िल को पार करते हैं; 

 

26
एक बार चलने का हौंसला रखो; मुसाफिरों का तो रास्ते भी इंतज़ार करते हैं।

 

27
खुद पर भरोसा करना कोई परिंदो से सीखे क्योंकि शाम को 
जब वो घोंसलों में जाते हैं तो उनकी चोंच में कल के लिए कोई दाना नहीं होता।

 

28
सिर्फ आसमान छू लेना ही कामयाबी नहीं होती; असली कामयाबी तो वो होती है कि आसमान भी  छू लो और पाँव भी जमीन पर रहें।

 

29
किसी ने मुझसे पुछा की तुम इतने खुश कैसे रह लेते हो तो मैने कहा मैनें ज़िन्दगी की गाड़ी से वो साइड ग्लास ही हटा दिया
जिसमे पीछे छूटे रास्ते और रिश्ते नज़र आते हैं
30

 

सोच को बदलो सितारे बदल जायेंगे; नज़र को बदलो नज़ारे बदल जायेंगे; 

 

कश्तियाँ बदलने की जरुरत नहीं; 
दिशाओं को बदलो किनारे बदल जायेंगे।

 

31
कभी उसको नजरअंदाज न करो
जो तुम्हारी बहुत परवाह करता हो
वरना किसी दिन तुम्हें एहसास होगा
के पत्थर जमा करते करते तुमने हीरा गवा दिया

 

32
कभी भी हार मत मानो। जब तुम्हारा दिल थक 
जाये तो अपने पैरों से चलते रहो पर आगे बढ़ते रहो।

 

33
भूल कर तो देखो एक बार हमें जिंदगी की हर अदा तुमसे रूठ जाएगी जब भी सोचोगे अपनों के बारे में तुम्हे हमारी याद जरुर आएगी

 

34
जब तालाब भरता है तब मछलीया चीटीँयो को खाती है और जब तालाब खाली होता है तब चीटींया मछलियो को खाती है
मौका सबको मिलता है बस अपनी बारी का इन्तजार करो

 

35
कोई लक्ष्य मनुष्य के साहस से बड़ा नहीं हारा वही जो लड़ा नहीं दुनियां का हर शौंक पाला नहीं जाता; काँच के खिलौनों को उछाला नहीं जाता; 

 

36
मेहनत करने से मुश्किलें हो जाती हैं 
आसान; क्योंकि हर काम किस्मत पर टाला नहीं जाता।

 

37
बेहतर से बेहतर की तलाश करो; मिल जाये नदी तो समंदर की तलाश करो; टूट जाता है शीशा पत्थर की चोट से; टूट जाये पत्थर कोई ऐसा शीशा तलाश करो।

 

38
खुद की तुलना ज्यादा भाग्यशाली लोगों से करने के बजाय हमें अपने साथ के ज्यादातर लोगों से अपनी तुलना करनी
चाहिए और तब हमें लगेगा कि हम कितने भाग्यवान है।

 

39
हमारी आँखोँ के जादू से अभी तुम कहाँ वाकिफ हो
हम उसे भी जीना सिखा देते हैँ जिसे मरने का शौक होता है

 

40
तू छोड़ दे कोशिशें इन्सानों को पहचानने की…!
यहाँ जरुरतों के हिसाब से सब बदलते नकाब हैं…!

 

41
अपने गुनाहों पर सौ पर्दे डालकर हर शख़्स कहता है ज़माना बड़ा ख़राब है।

 

42
मरते होंगे लाखों तुझ पर
पर हम तो तेरे साथ मरना चाहते है

 

43
कैसे ना मर मिटे उन पर हम पगली रूठ कर भी कहती है सुनो संभल के जाना

 

44
जी कर रहा है फिर से स्टूडेंट बन जाऊं ग़ालिब सुना है आजकल उसने मोहल्ले में कोचिंग खोल ली है

 

45
कुछ कर गुजरने के लिए मौसम नहीं मन चाहिए; साधन सभी जुट जायेंगे बस संकल्प का धन चाहिए।

 

46
हर कामयाबी पे तुम्हारा नाम होगा; तुम्हारे हर कदम पे दुनिया का सलाम होगा; डट कर करना सामना तुम मुश्किलों का; एक दिन वक़्त भी तुम्हारा गुलाम होगा।

 

47
कभी ऐसा भी हो मैं कोई वादा करूँ तुम उसे निभाओ दर्द में भी जो हँसना चाहो तो हँस पाओगे; 

 

48
टूटे फूलों को भी पानी में डालो तो उनमें भी महक पाओगे; ज़िंदगी किसी 
ठहराव में कहीं रुकती नहीं; हिम्मत जो करोगे तो मंज़िल खुद-ब-खुद पा जाओगे।

 

49
प्यार मे गम और दोस्ती मे हम
दोनो ही FAMOUS हैं यार

 

50
अच्छे के साथ अच्छे रहे लेकिन बुरे के साथ बुरे नहीं बने क्योंकि पानी से खून साफ कर सकते है लेकिन खून से खून नहीं

 

51
एक बहुत गहरी बात है: वक़्त से सीखो बदलते रहने का सबक; वक्त कभी खुद को बदलते नहीं थकता

 

52
मैं हवा का रुख तो नहीं बदल सकता पर मैं अपनी मंज़िल पर पहुँचने के लिए अपनी कश्ती को समायोजित अवश्य कर सकता हूँ।

 

53
गुस्सा नहीं करना चाहिए एक बार गुस्सा करने से खून की आठ बूंदे नष्ट हो जाती है जिन्हें बनने में पूरे 10 दिन लगते है।

 

54
लगातार हो रही असफलताओं से निराश नहीं होना चाहिए; कभी-कभी गुच्छे की आखरी चाबी ताला खोल देती है। 

 

55
सदा सकारात्मक रहें!
एक सफल वैवाहिक जीवन लिए एक 
ही व्यक्ति के साथ कई बार प्यार में पड़ने की जरुरत होती है।

 

56
सफर में मुश्किलें आऐ तो हिम्मत और बढ़ती है ना बिकने का इरादा हो तो कीमत और बढ़ती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here